चलते-चलते प्रधानमंत्री की गाड़ी अगर पंचर हो जाए तो क्या होगा? 99% लोग नही जानते यह बात

आज क इस मौजूदा समय में हमारे देश की सुरक्षा इतनी चाक चौबंद है की कोई परिंदा भी पर नहीं मार सकता है. देश की सुरक्षा के साथ ही हमारे देश के प्राइम मिनिस्टर की सुरक्षा व्यवस्था भी दुनिया के कई शक्तिशाली देशो से बेहतर है. आज के समय में हमारा देश भारत पूरी दुनिया में एक नई शक्तिशाली राष्ट्र बन कर उभर रहा है. एक समय था जब सिर्फ कुछ चुनिंदा देशो की सिक्योरिटी और सुरक्षा व्यवस्था को ही उपयुक्त माना जाता था|

सबसे दिलचस्प बात तो यह है की पीएम जिस गाड़ी में चलते हैं वह पंचर भी हो जाए तो करीब 90 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से 320 किमी तक चल सकती है. देश के मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में 20 हजार जवान तैनात हैं। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) हमेशा तैनात होती है आज हम आपको बताने जा रहे हैं कैसी होती है पीएम मोदी की सुरक्षा और जिस गाड़ी से पीएम चलते हैं उसकी खासियत क्या है| एसपीजी में करीब 3 हजार सैनिक हैं। इनकी जिम्मेदारी प्रधानमंत्री के साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री, और उनके फैमिली मेम्बर्स को सिक्योरिटी देने की भी होती है यह जवानों को अमेरिका की सीक्रेट सर्विस की गाइडलाइंस पर पूरी तरह से ट्रेंड किया जाता | प्रधानमंत्री अगर कहीं भी जाते हैं, वहां हर स्टेप पर एसपीजी के शूटर तैनात होते हैं। यह शूटर टेरेरिस्ट को सेकंड्स में मारने की ताकत रखते हैं।

अधिकतर प्रोग्राम में एसपीजी चीफ खुद सुरक्षा में तैनात होते हैं, यदि वे किसी कारण से नहीं पहुंच पाए तो फिर लीड करने की जिम्मेदारी किसी दूसरे हायर रैंक के ऑफिसर को दी जाती है. जिसके ऊपर इसकी पूरी जिम्मेवारी रहती है. इनकी सुरक्षा में तैनात इन जवानों के पास FNF-2000 असॉल्ट राइफल, ऑटोमैटिक गन और 17M रिवॉल्वर्स के साथ ही आधुनिक हथियार होते हैं। एसपीजी के अलावा दिल्ली पुलिस भी पीएम की सिक्योरिटी में अहम रोल निभाती है. पीएम यदि किसी गेदिरंग को एड्रेस करने वाले हैं तो उसके पहले दिल्ली पुलिस पूरे एरिये का बारीकी से निरीक्षण करती है|

इसके साथ ही एक दर्जन से ज्यादा गाड़ियां काफिले में होती हैं. इसके अलावा दल में टाटा सफारी जैमर भी शामिल होती है। पीएम की रक्षादल में आगे और पीछे दिल्ली पुलिस सिक्योरिटी स्टाफ की गाड़ियां होती हैं. पीएम की गाड़ियों के काफिले में 2 आर्मर्ड बीएमडब्लूय 7 सीरीज सेडान होती हैं. 6 बीएम बीएमडब्लूय एक्स 5 और 1 मर्सिडीज बेंज एम्बुलेंस होती है। इसके साथ ही एक दर्जन से ज्यादा गाड़ियां काफिले में होती हैंं| पीएम जब भी अपने निवास से किसी गेदरिंग में शामिल होने जाते हैं तो रोड के एक साइड का ट्रैफिक 10 मिनट पहले से रोक दिया जाता है. जवान दोपहिया वाहन से उस पूरे रूट का निरीक्षण करते हैं. यह जवाब देखते हैं कि जिस रूट से पीएम निकलने वाले हैं, वह पूरी तरह क्लियर है या नहीं. इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास (7, रेसकोर्स रोड) को एसपीजी के 500 से ज्यादा कमांडो घेरे रहते हैं|

Leave a Reply